प्राचीन गांव और पूरा-महत्व - Apna Pratapgarh

Advertise Your Business Here

test

Thursday, June 11, 2020

प्राचीन गांव और पूरा-महत्व

राजस्थान का इतिहास और संस्कृति गतिशील है और मानव सभ्यता की शुरुआत तक जाती है। पुरातत्व के अनुसार राजस्थान का इतिहास पूर्व पाषाणकाल से प्रारंभ होता है। इस बात के प्रमाण हमारे प्रतापगढ़ जिले में कई स्थानों में भी मौजूद हैं।

प्रतापगढ़ जिले के जानागढ़, खप्रदक (खैरोट) , बसाड, शैवना, घोटावर्षिका (घोटारसी), सिधेरिया, धमोत्तर, गंधर्वपुर (गंधेर), रेतम नदी के किनारे बसा कनोरा गांव और कनोरा की बावड़ी, प्राचीन चारभुजा मन्दिर, गड़ी, अवलेश्वर की ऐतिहासिक बावड़ी, अवलेश्वर के पुरातत्व अवशेष कीर्ति स्तंभ और 22 सौ वर्ष पुरानी प्राचीन अष्टकोणीय ब्रह्म लिपी लिखा शिला लेख सहित प्रतापगढ़ जिले में कई स्थानों पर फैले ऐतिहासिक और पुरातात्विक महत्व के अवशेष देखे जा सकते हैं।

अवलेश्वर में खुदाई के  दौरान अंकलेश्वर महादेव की दो लिंग की विशाल मूर्ति भी निकली थी। जिसके प्राण-प्रतिष्ठा कर पुन: मंदिर में स्थापित किया गया था।

प्राचीन गांव और पूरा-महत्व

No comments:

Post a Comment

Please do not enter any spam link in the comment box.

Advertise Your Business Here

banner image