प्रमुख फसलें - Apna Pratapgarh

Advertise Your Business Here

test

Monday, May 18, 2020

प्रमुख फसलें

प्रतापगढ़ की प्रमुख खरीफ फसलें मक्का, तिल, समली, मूंग, उड़द, अरहर, सोयाबीन, ज्वार हैं , जबकि रबी फसलों में गेहूं, जौ, चना, अफीम, सरसों अलसी, अजवाइन, राई, मटर, दाल और सूआ मुख्य हैं ।

राजस्थान के कई हिस्सों में ज्यादातर उगाई जाने वाली फसल बाजरा है जो यहाँ लगभग नहीं होती।

प्रतापगढ़ की सबसे महत्वपूर्ण नगद-उपज है– अफीम, जिसे  ‘काला सोना’ भी कहते हैं।

अफीम का दूध निकालने के लिये उसके कच्चे, अपक्व 'फल' में एक चीरा लगाया जाता है,

इसका दूध निकलने लगता है, जो निकल कर सूख जाता है। यही दूध सूख कर गाढ़ा होने पर अफ़ीम कहलाता है।

यहां अर्थव्यवस्था का दूसरा बड़ा स्रोत वनों से प्राप्त उपज है- जिसमें जलाऊ और इमारती लकड़ी, सागवान, गोंद, सफ़ेद मूसली, कत्था, महुआ, शहद, करोंदा, टिमरु, तेंदू-पत्ता हैं।

No comments:

Post a Comment

Please do not enter any spam link in the comment box.

Advertise Your Business Here

banner image